Categories
Education

जिस इंसान ने किसी इंसान को तकलीफ दी The person who hurts a person in hindi

जिस इंसान ने किसी इंसान को तकलीफ दी The person who hurts a person in hindi

अल्लाह के रसूल ﷺ ने फरमाया.
मुसलमान वह है जिसके हाथों और ज़ुबान से किसी किसी दूसरे मुसलमान को तकलीफ़ न पहुंचे.

इमाम अली रज़ि अल्लाहु ताअला अन्हु ने फ़रमाया.

जो इंसान अल्लाह की मखलूक को बगैर जुल्मों खता तकलीफ देता है, चाहे वह हाथों से हो चाहे जुबान से हो चाहे रवैया से हो अल्लाह ऐसे इंसान के मुकद्दर में दोज़ख़ लिख देता है.

फ़ातिमा ज़हरा रज़ी अल्लाह ताअला अन्हु ने फ़रमाया.

(The person who hurts a person)in hindi जिस इंसान ने किसी इंसान को तकलीफ दी,दुख दिया तो समझ लो उसने अपने हाथों ही से अपने नसीब को तबाह कर दिया. चाहे वह कितना ही बड़ा दिनदार क्यों ना हो.

इमाम ह़सन रज़ी अल्लाह ताअला अन्हु ने फ़रमाया.

अल्लाह के नजदीक अज़ीज़ है वह इंसान जो अल्लाह की ख़िलकत(बंदे) से प्यार करता है.
जहां तक हो सके अपने वजूद को ऐसा बनाओ, जिससे अल्लाह के ख़िलकत को अमन और सलामती मिले. के जहां इस्लाम होगा वहां अमन होगा, सलामती होगी. और जहां कुफ्र होगा वहां ज़ुल्म होगा और बेसुकुनी होगी.

इमाम हुसैन रज़ी अल्लाह ताअला अन्हु ने फ़रमाया.

इंसान जितना अज़िम होगा उसका दिल अल्लाह की मख़लूक़ात के लिए उतना ही नरम होगा. जो अल्लाह को अज़ीज़ रखते हैं. वह अल्लाह के मख़लूक़ात को सताया नहीं करते. और जो नमाज़ रोज़ा में ह़ज ज़कात देने के बावजूद भी अल्लाह की ख़िलकत पर ज़ुल्म करते हैं, तो वह समझ जाए कि उसकी इबादत अल्लाह की दरबार में क़ुबूल नहीं.

यह लेख अच्छा लगा तो लाइक शेयर कमेंट जरुर करें.

इसे भी पढ़ें:कुछ इंसान काले गोरे रंग|Why some people black and some people are white In hindi.

Read it:अपनी जिंदगी में खुशियां बढ़ाए|Increase happiness in your life in hindi.

read more:Kabir Ke Dohe – संत कबीर दास के दोहे अर्थ सहित