Categories
Quotes

पंचतंत्र की motivational कहानी in hindi.मेहनत ही सबसे अनमोल खजाना है.

पंचतंत्र की motivational कहानी मेहनत ही सबसे अनमोल खजाना है.in hindi.

मेहनत ही सबसे अनमोल खजाना है.
जो एक किसान और उसके चार बेटों के बारे में है एक समय की बात है किसी गांव में एक किसान रहता था जिसका नाम सरोज था सरोज अपने चार बेटों और बीवी के साथ रहता था उस के चारो बेटे अपने दोस्तों के साथ इधर उधर बैठ कर समय बर्बाद करते थे और कोई काम धंधा नहीं करते थे.

एक दिन की बात है किसान अपने खेत से वापस आता है देखता है उसके चारो बेटे घर पर नहीं है. और कहता है अरे यह चारों घर पर भी नहीं और खेत में भी नहीं है लगता है फिर अपने दोस्तों के साथ इधर उधर अपने समय बर्बाद करने गए हैं! तंग आ गया हूं इन चारों से कोई काम धंधा नहीं करते बस सारा दिन मटरगश्ती करते रहते हैं या फिर आराम, अभी मैं जिंदा हूं जब मैं चला जाऊंगा तो इनका क्या होगा…

ऐसे ही वह किसान रोज परेशान रहता था और खुद जाकर खेत में मेहनत किया करता था एक दिन किसान ने अपनी पत्नी से कहा मुझे तो अपने पुत्रों की बहुत चिंता होती हैं अभी तो मैं सही सलामत हूं तो खेत में जाकर काम कर लेता हूं कल जब मैं बूढ़ा हो जाऊंगा तो क्या होगा और फिर इनको तो काम करने की भी आदत नहीं है किसान की पत्नी ने उसे ढांढस बांधते हुए कहा कि आप फिकर ना करे सब जल्दी ही सब ठीक हो जाएगा बच्चे भी समझ जाएंगे,आप अपनी सेहत पर ध्यान दें आप बीमार हैं.

ऐसे ही दिन बितते रहे एक दिन वह किसान काफी बीमार हो जाता है और उसकी उम्र भी हो चुकी थी उसे लगने लगता है के उसके बचने के दिन काफी कम है.

किसान ने अपनी पत्नी से अपने बेटे के लिए कहता है सुनो मुझे लगता है मैं ज्यादा दिन जिंदा नहीं रह पाऊंगा इससे बेहतर यही होगा कि तुम मेरे चारों बेटों को मेरे पास बुला लाओ मैं उससे कुछ सिखाना चाहता हूं किसान की बात सुनकर उसकी पत्नी अपने चारों बेटों को बुलाकर लाती हैं

किसान कहता है देखो बेटों अब मैं ज्यादा दीन जिंदा नहीं रहने वाला औ इसलिए मैं तुम्हें कुछ बताना चाहता हूं मेरे पास ज्यादा समय नहीं है अगर हो सके तो तुम चारों मेरे साथ खेत पर चलो मैं बीमार हूं और काफी दिनों से खेत पर नहीं गया पता नहीं मेरे खेतों का क्या हाल है.

मैंने सारी जिंदगी जितनी मेहनत की है उसका फल तुम्हे देना चाहता हूं मेरे साथ खेतों में चलो यह सुनते ही किसान के चारों बेटों के पसीने छूट गए, और वह खेत पर नहीं जाना चाहते थे तब किसान ने कहा देखो मैंने आज तक जितने भी मेहनत की है वह सब तुम्हारे लिए ही है और तुम्हें बताना चाहता हूं कि मैंने मेहनत से जितना भी धन कमाया है वह सब उस खेत में गाड़ दिया है, तुम सब मेहनत करना और उस खेत में से वह खजाने खोदकर निकाल लेना और आपस में बाट लेना यह सुनते ही चारो बेटे खुश हो गए.

कई दिन बीतते गए और एक दिन किसान बहुत ज्यादा बीमार हुआ और उसकी मृत्यु हो गई. किसान के मरने के बाद उसके बेटे खेत में जाकर खोदना शुरू कर देते हैं सुबह से शाम हो जाती है लेकिन उन्हें वहां पर कोई खजाना नहीं मिलता है फिर वह चारों वापस आकर अपने मां से शिकायत करता है मां! पिताजी ने हमसे झूठ बोला है यह सुनते ही किसान की पत्नी मुस्कुराने लगती है और उनसे कहती है बेटा पिताजी ने तुमसे क्या झूठ बोला है? मां खेत में कोई खजाना नहीं है मैंने सारा खेत को खोद दिया लेकिन कोई खजाना नहीं मिला.

किसान की पत्नी मुस्कुराती है और उनसे कहती है देखो बेटा तुम्हारे पिताजी का कोई खजाना नहीं था यह घर और खेत ही उसकी जीवन की पूंजी थी.

अब ऐसा करो जब तुमने वह सारा खेत खोद ही दिया है तो उसमें बीज डालकर पानी से सिंचाई कर के उसे हरा भरा कर दो कम से कम तुम्हारी फसल तो उग जाएगी.

अपनी मां से ऐसी बातें सुनकर वह थोड़ा सा हिचकीचाते हैं और फिर खेत में जाकर उसमें बीज डाल देते हैं जैसे उनकी मां ने कहा था उस खेत की रखवाली करते हैं फिर कुछ महीनों बाद उनकी मेहनत से उस खेत में अच्छी फसल उगा आती है जिसे देख कर वह चारों बड़े खुश हो जाते हैं और समझ जाते हैं कि उनकी मां और उनके पिताजी किस खजाने की बात कर रहे थे.

वह भाग कर अपने मां के पास जाते हैं और उनसे कहते हैं मां हम समझ गए आप और पिताजी किस खजाने कीे बात कर रहे थे हमारी फसल गांव में सबसे अच्छी हुई है और हमें अपनी फसल का मुनाफा भी खूब मिलेगा यही हमारा खजाना है.

किसान की पत्नी उसकी यह बात सुनकर बड़ी खुश होती है और कहती है बेटा यही तो तुम्हारे पिताजी तुम्हें समझाना चाहते थे तुम्हारे पास तुम्हारी मेहनत ही सबसे अनमोल खजाना है यह तुमसे कोई भी छीन नहीं सकता और ना ही कोई चुरा सकता है.

तब से किसान के बेटे खेत पर जाकर सुबह शाम खूब मेहनत करने लगे…

तो दोस्तों इस कहानी से हमें यह शिक्षा मिलती है के हमें कभी भी परिश्रम करने से हार नहीं मानना चाहिए .

दोस्तों अगर याद एक अच्छा लगा तो लाइक शेयर कमेंट जरूर करें और अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें.

यह भी पढ़ें:-Honesty and perseverance can be successful in hindi.ईमानदारी का इनाम.