Categories
Hindi Kahani

Ek badshah aur three wazir एक बादशाह और तीन वजीर का दिलचस्प वाकया.

Ek badshah aur three wazir एक बादशाह और तीन वजीर का दिलचस्प वाकया.

एक बादशाह ने तीन वजीर को अपने दरबार में बुलाया, और तीनों को यह हुक्म दिया कि तीनों एक एक थैला लेकर बाग में दाखिल हो और वहां से बादशाह के लिए मुख्तलिफ और अच्छे अच्छे फल जमा करें.

वजीर बादशाह की इस अजीब हुकुम पर हैरान रह गए और तीनो थैला पकड़कर अलग अलग बाग में दाखिल हो गए,

पहले वजीर ने कोशिश की कि बादशाह के लिए उसके पसंद के मजेदार और ताजा फल जमा करें,

दूसरे वजीर ने ख्याल किया के बादशाह एक एक फल का खुद तो जायजा नहीं लेगा, इसीलिए उसने बगैर फर्क देखें जल्दी-जल्दी हर किसम के ताजा कच्ची और गले सड़े फलों से थैला भर लिया.

तीसरी वजीर ने सोचा के बादशाह की तवज्जो सिर्फ थैलों के भरने पर होगी ना के उसके अंदर क्या है, बादशाह नहीं देखेगा.
यही सोचकर वजीर ने थैलों में घास भूस और पत्ते भर लिये.

दूसरे दिन बादशाह ने तीनों वजीर को अपने थैलों समेत दरबार में हाजिर होने का हुक्म दिया, जब तीनों दरबार में हाजिर हुए तो बादशाह ने थैले खोल कर भी ना देखें,

और हुकुम दिया इन तीनों को उनके थैलों समेत दो हफ्तों के लिए जेल में कैद कर दो, और खाने पीने के लिए कुछ ना दिया जाए.

उनके पास सिवाय थैले के कुछ न था,
अब जो पहला वजीर जिसने अच्छी और ताजा फल चुनकर जमा किए थे उसका तो मजे से गुजर हुआ.

और दूसरा वजीर जो बगैर देखे ताजा और खराब फल जमा किए थे वो उन फलों को खा कर बीमार हो गया.

तीसरा वजीर जो सिर्फ थैले में घास फूस जमा किया था वह कुछ दिन बाद भूख से मर गया.

आइए अब हम अपने आप से पूछते हैं कि हम क्या जमा कर रहे हैं, आप इस वक्त उस बाग में है जहां से आप चाहे तो नेक आमाल जमा करें या खराब.

लेकिन याद रहे जब बादशाह हकीकी का हुकुम आएगा तो आपको जेल यानि कब्र में डाल दिया जाएगा.

अगर आज थोड़ी मेहनत करके नेक अामाल जमा कर लें तो वहां आसान और आराम जिंदगी गुजार सकेंगे.

आखिरत की फिक्र करें.

दोस्तों यह लेख अच्छा लगा तो लाइक शेयर कमेंट जरूर करें, और अपने दोस्तों के साथ शेयर भी करें.

यह भी पढ़ें:-26 Motivational Quotes|Life Inspiring Quotes|Life Thoughts in Hindi.

3 replies on “Ek badshah aur three wazir एक बादशाह और तीन वजीर का दिलचस्प वाकया.”

Fantastic post however , I was wanting to know if you could write a litte more
on this subject? I’d be very grateful if you could elaborate a
little bit more. Cheers

Comments are closed.