Categories
Lyrics

Madina Chhod Kar Ab Unka Deewana Na Jaega, naat lyrics

Madina Chhod Kar Ab Unka Deewana Na Jaega – lyrics

Madina chhod kar ab unka deewana na jaega
Jamaale yaar ki mehafil se parwana na jaega

badi mushkil se aaya hai palat kar apane markaz par
Madina chhod kar ab unka deewana na jaega

ye maana khuld bhee hai dil bahelane kee jagah lekin
Madina chhod kar ab unaka deewana na jaega

Jo aana hai to khud aae ajal umre abad le kar
Madina chhod kar ab unaka deewana na jaega

Thikana mil gaya hai faatihe mehashar ke daaman mein
Madina chhod kar ab unka deewana na jaega

Faraaze arsh se ab kaun utare pharshageeti par
Madina chhod kar ab unka deevaana na jaega

Do aalam ki ummeedon se kaho maayoos ho jaen
Madina chhod kar ab unka deewana na jaega

Mere sarkar aakar naqsh kar do ab kaphe pa ko
Dile bimar ka reh reh ke gabaraana na jaega

Pahunch jaega unaka naam lekar khuld mein arashad
Tahi daaman sahi naaze gulamana na jaega

Read it: Chor fikr duniya ki chal Madine chalte hain, naat lyrics.

Read it: Hai Pak Rutba Fikr Say Us Bay Niaz Ka, Lyrics

मदीना छोड़ कर अब उनका दीवाना न जाएगा
जमाले यार की मेहफ़िल से परवाना न जाएगा

बड़ी मुश्किल से आया है पलट कर अपने मर्कज़ पर
मदीना छोड़ कर अब उनका दीवाना न जाएगा

ये माना ख़ुल्द भी है दिल बहेलने की जगह लेकिन
मदीना छोड़ कर अब उनका दीवाना न जाएगा

नशेमन बांधना है शाख़े-तूबा पर मुक़द्दर का
मदीना छोड़ कर अब उनका दीवाना न जाएगा

जो आना है तो खुद आए अजल उम्रे अबद ले कर
मदीना छोड़ कर अब उनका दीवाना न जाएगा

ठिकाना मिल गया है फ़ातिहे़-मेहशर के दामन में
मदीना छोड़ कर अब उनका दीवाना न जाएगा

फ़राज़े-अर्श से अब कौन उतरे फर्शगीति पर
मदीना छोड़ कर अब उनका दीवाना न जाएगा

दो आलम की उम्मीदों से कहो मायूस हो जाएं
मदीना छोड़ कर अब उनका दीवाना न जाएगा

मेरे सरकार आकर नक़्श कर दो अब कफे पा को
दिले-बीमार का रेह रेह के गबराना न जाएगा

पहुँच जाएगा उनका नाम लेकर ख़ुल्द में “अरशद”
तहि दामन सही नाज़े ग़ुलामाना न जाएगा

Read it: Woh kamaale husne Huzoor hai, Naat lyrics.