Categories
Motivational Articles

Who is the best person?| good man | In Hindi | Imam Ali ne farmaya.

Who is the best person?| good man | In Hindi | Imam Ali ne farmaya.

इमाम अली रज़ि अल्लाहु ताअला अन्हु के ख़िदमत में एक शख्स आया, और दस्तेअदब को जोड़कर अर्ज़ करने लगा, या अली! सबसे बेहतरीन जिंदगी कौन सी है?

बस यह कहना था तो इमाम अली रज़ि अल्लाहु ताअला अन्हु ने फ़रमाया, ऐ शख्स याद रखना, सबसे बेहतरीन जिंदगी वो है, जिस जिंदगी में, इंसान दूसरों की खुशी का सबब बने.

और सबसे बदतरीन जिंदगी वो है, जिस में, इंसान किसी के दुख का सबब बने, ऐ शख्स! अल्लाह के रसूल ﷺने फ़रमाया, फरिश्तों की फितरत में दूसरों के लिए जीना है, और जानवरों की फितरत में खुद के लिए जीना,

और इंसान को यह अख्तियार दिया गया कि वो, खुद के लिए भी जी सकता, और दूसरों के लिए भी,
बस यह याद रखना! के जो इंसान दूसरों के लिए जिए, वो फरिश्तों से अफ़ज़ल है, और जो इंसान सिर्फ खुद के लिए जिए, वो जानवरों से भी बदतर.

यह लेख अच्छा लगा तो लाइक शेयर कमेंट जरुर करें, और अपने दोस्तों के साथ शेयर भी करें.

यह भी पढ़ें:-मेरे पास दौलत नहीं टिकते क्या करूं|मुझे सुकून नहीं मेरे पास खुशी नहीं.

in English:

imaam ali razi allaahu taala anahu ke khidamat mein ek shakhs, aur daste adab ko jodakar arz karnay, ya ali! sabase behtreen zindagi kaun see hai?

bas yah kahana tha ki imaam ali razi allaahu taala anahu ne faramaaya, aye shakhs yaad rakhana, sabase achhi zindagee vo hai, jis zindagee mein, insaan doosaron kee khushee ka sabab bane.

aur sabase badatarin zindagee vo hai, jis mein, insaan kisee ke dukh ka sabab bane,

ae shakhs! allaah ke rasool ﷺ ne faramaaya, pharishton ki fitrat mein doosaron ke lie jeena hai,
aur jaanwaron kee fitrat mein khud ke liye jeena,

aur insaan ki yeh akhtiyar diya gaya ke vo, khud ke lie bhee jee sakata hai, aur doosaron ke lie bhee,

bas yah yaad rakhana! ke jo insaan doosaron ke lie jie, vo pharishton se afazal hai,
aur jo insaan keval khud ke lie jie, vo jaanwaron se bhee badatar.

yah lekh achchha laga to like shear kament jarur karen, aur apane doston ke saath sheyar bhee Karen.